बच्चों को घर बैठे मिल रहा पढ़ाई तुहर द्वार योजना का लाभ…

बलरामपुर प्रांजल सिंह- कोविड-19 संक्रमण की वजह से राज्य में लंबे अवधि से विद्यालय बंद है। ऐसी परिस्थिति में राज्य शासन ने पढ़ाई तुंहर द्वार ऑनलाइन कक्षा की सुरुआत की है जिसमें विषय वार पहली से बारहवीं तक अध्यापन की व्यवस्था बनाई गई है। जिसका संचालन बलरामपुर में जिला शिक्षा अधिकारी बी एक्का एवं पढ़ाई तुंहर द्वार के जिला नोडल /सहायक संचालक बंधेश सिंह के दिशा निर्देश में जारी है

जिसके तहत बलरामपुर विकासखण्ड में सभी संकुल के ग्रामों में टीम बनाकर सघन दौरा किया जा रहा है टीम में रविंद्र गुप्ता जन शिक्षक सरनाड़ीह, अखिलेश सिंह यादव जन शिक्षक जमुआटांड़ ,ब्लासियुष लकड़ा जन शिक्षक लुर्गी कला शामिल है आज उक्त टीम द्वारा ग्राम चंपापुर पंडो पारा का भ्रमण कर बच्चों के ऑनलाइन पढ़ाई हेतु बच्चों एवं अभिभावकों को प्रेरित किया गया
उक्त जानकारी सहायक विकासखंड शिक्षा अधिकारी गौरव गुप्ता ने दी व बताया की पढ़ाई तुहर द्वार छत्तीसगढ़ शासन की महत्वपूर्ण योजना है जिसमें घर में ही ऑनलाइन पद्धति से मोबाइल पर बच्चों को होमवर्क दिया जा रहा है होमवर्क के जांच हेतु शिक्षकों को 24 घंटे का समय दिया जाता है 24 घंटे के अंदर शिक्षक होमवर्क जांच कर साइट पर अपलोड कर देते हैं। विकासखंड में पहली से 12वीं तक 18427 विद्यार्थी हैं जिसमें 15202 विद्यार्थी ऑनलाइन पढ़ाई तुंहर द्वारा की साइट पर पंजीकृत हैं एवं 1911 विद्यार्थी संयुक्त रूप से पंजीकृत हैं शेष 1314 विद्यार्थीयों के पास मोबाइल नहीं है इसकी जानकारी उच्च कार्यालय को दी गई है उच्चकार्यालय द्वारा जल्द ही उक्त छात्रों के लिए नई योजना बनाने को लेकर आस्वस्त किया गया है विकास खण्ड में 911 शिक्षक हैं सभी ऑनलाइन अध्यापन कार्य में अपनी अहम भूमिका निभाते हुए वर्चुअल क्लास ले रहे हैं आज की स्थिति में 55 वर्चुअल क्लास 19 संकुल अंतर्गत संचालित है जिसका लगातार निरीक्षण कर शिक्षकों एवं विद्यार्थियों को ऑनलाइन पढ़ाई हेतु प्रोत्साहित किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here