महामारी पर काबू पाना है तो बंद होनी चाहिए शराब की दुकानें – विशाल गुप्ता

सूरजपुर, नितेश गुप्ता – प्रदेश की कांग्रेस सरकार जो सत्ता में आने से पूर्व जनता प्रदेश में शराब बंदी की घोषणा की थी। कोरोना पर नियंत्रण में कारगर सफलता प्राप्त कर रही थी, लेकिन अब शराब दुकानें खोलकर हमने फिर से मुसीबत ले ली जो मौजूदा हालात विश्वव्यापी कोविड 19 (कोरोना) महामारी से जनता के बीच में ना फैले उसके लिए लॉक डाऊन करके सरकार स्कूल, कॉलेज, जिम, मॉल, थियेटर, सार्वजनिक कार्यक्रम, यहां तक कि परीक्षाओं को स्थगित कर रही है, वहीं शराब दुकान जहां लोग बिना सावधानी के भीड़ लगा रहे हैं। सरकार कोई कदम नहीं उठा रही है। जनता को घरो में रहने की सलाहें दे रही है। तो वहीं अपराध के मूल जड़ कहे जाने वाले शराब को शोषल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते हुए सरकार ने शराब की दुकानें खोल कर कोरोना महामारी को न्यौता देने का कार्य कर रही है। उक्त बातें सूरजपुर जिले के बीजेपी युवा नेता विशाल गुप्ता ने कही है। श्री गुप्ता ने सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि सरकार को जनता की फिक्र नही है वो केवल लाभ कमाने में ही व्यस्त है। केंद्र की सरकार कोरोना महामारी को लेकर अलर्ट दिख तो रही है। किंतु राज्य की सरकार लापरवाही बनाएं हुए है। ऐसे में लंबे समय तक शराब की बिक्री नही करके सरकार ने शराब प्रेमियो के लिए शराब की लत छोड़ना आसान हो गया था किंतु सरकार नही चाहती है कि प्रदेश की जनता का शराब से मोह छूटे।
शराब के कारण घरों में घरेलू हिंसा हो रही है। महिलाओ पर अत्याचार हो रहा है। अपराध में वृद्धि हो रही है। जिसके बाद भी सरकार के कानों में जु तक नही रेंग रही है। सरकार जल्द ही शराब बंदी का फैसला ले नही तो लॉक डाऊन के बाद हम युवा और हमारी पार्टी के कार्यकर्ता अनशन में बैठने पर मजबूर होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here