कोरनटाइन सेंटर के अव्यवस्थाओं का हुआ खुलासा…

रोहतास, अनिल कुमार हिन्दू – नोखा के बुधन चौधरी स्मारक उच्च विद्यालय में अन्य प्रदेशों से आ रहे प्रवासी मजदूरों के लिए बनाए गए क्वॉरेंटाइन सेंटर में रह रहे युवक के साथ मारपीट का मामला सामने आया। एक ओर जहाँ नोखा की जनता प्रखण्ड के कोरोना योद्धाओं को सम्मानित करने की बात कह रही है और एक Je की अमानवीय व्यवहार नें प्रश्नचिन्ह खड़ा कर दिया। इसी क्रम में क्वॉरेंटाइन हो रहे व्यक्तियों को नाश्ता देने में हुई देरी के कारण वहां कार्य में लगे कर्मचारियों के पास लोगों ने शिकायत की।

इनकी शिकायत को उच्चाधिकारियों तक पहुंचाने के लिए वहां नियुक्त इंट्रीकर्ता राम शर्मा एवं अकाश कुमार ने नोखा प्रखंड के जेई अंकुर गगन, नगर पंचायत के कर्मचारी सत्यनारायण प्रसाद एवं रितेश कुमार को फोन पर सूचना दिए। तत्पश्चात कुछ ही क्षणों में जेई सेंटर के अंदर पहुंचे और वहां एक युवक को मोबाइल से बात करते देखते ही उसका मोबाइल छीन कर डंडे से पीट दिए और इसी के साथ बवाल बढ़ गया, जहाँ से जे.ई. को पुलिस की मदद से हटना पड़ा। इस झड़प में जेई को मामूली चोटें आई। वहां सेंटर के प्रवासियों नें एक महिला के साथ अभद्रता की बात भी कही है।

इस घटना के संदर्भ में हमने फोन से नप अध्यक्ष श्रीमति पम्मी देवी से बात की तो उन्होने बताया की वहां संख्या बढ़ने के कारण आज नाश्ते में ऐसी अव्यवस्था हुई है, नाश्ता दूसरे जगह से बनकर आती है। कल से नाश्ते व खाना बनाने की प्रकिया इसी सेंटर में कर दी जाएगी और जेई के ऊपर कार्यवाई हो इसे संज्ञान में ले लिया गया है !वार्ड न. 15 के वार्ड आयुक्त राजेन्द्र प्रसाद का बयान है, की जब 10.15 A.M.तक नाश्ता नहीं मिला है और ना ही बच्चो को दूध ही मिला है, ऐसे में पेट जलेगा तो बवाल होगा ही। किसी भी हालत में प्रवासी मजदूर पर जो कवारनटाइन सेन्टर में है लाठी द्वारा मारना, बल का प्रयोग करना शोभनीय नहीं है, उसकी हम निन्दा करते हैं इसकी जांच किया जाए और तत्काल प्रभाव से वैसे कर्मचारी को उस व्यवस्था से अलग किया जाए। आक्रोश को कम किया जाए। क्वॉरेंटाइन सेंटर में रह रहे लोगों के साथ मानवता से पेश आएं क्योंकि वह हमारे अपने भाई बंधु हैं वो कैदी नहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here