बड़ी खबर : हाथियों के आतंक से ग्रामीणों को करना पड़ रहा रतजगा… गांव में घुसे हाथियों ने घरों को कर दिया तहस-नहस… मौत भी

पत्थलगांव। छत्तीसगढ़ में हाथियों के हमले के मामले थम नहीं रहे हैं। प्रदेश के जशपुर जिले में 14 हाथियों का दल पिछले तीन दिन से​ विचरण कर रहा है। इस दौरान गांव में घुसे हाथियों के दल ने 6 घरों को तहस-नहस कर दिया। जिसके चलते ग्रामीणों में जबरदस्त दहशत है।

2 किसान घायल

इधर मध्यप्रदेश के मंडला जिले में भी हाथियों के हमले से लोगों जबरदस्त दहशत है। हाथियों के हमले में 2 किसान गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। दोनों को उपचार के लिए जबलपुर रेफर किया गया है। वन परिक्षेत्र बीजाडांडी के टिकरा टोला की यह घटना है। जानकारी के अनुसार जबलपुर पहुंचे 2 हाथियों में से एक हाथी लौटा गया है। जबकि दूसरा हाथी लौटकर मंडला के ग्रामीण क्षेत्र पहुंच गया। हाथी के हमले को देखते हुए वन विभाग ने ग्रामीणों को सर्तक रहने को कहा है।

पत्थलगांव में ग्रामीण कर रहे रतजगा

जशपुर जिले के बटुराबहार और पंडरीबहला गांव में 14 हाथियों के दल ने 6 घरों को नुकसान पहुंचाया है। वहीं हाथियों के हमले के चलते क्षेत्र के करीब 10 से ज्यादा गांव वाले रतजगा करने को मजबूर हो गए हैं। ग्रामीणों का कहना है कि हाथियों के हमले की जानकारी वन विभाग को दे दी गई है। बावजूद पिछले तीन दिनों से वन कर्मचारियों ने हाथियों को खदेड़ने के लिए कुछ भी नहीं किया। आलम ऐसा है कि मजबूरन में ग्रामीणों को रतजगा करना पड़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here