GOOD NEWS : कोरोना को मात देने अब… भारत में बन रहा नजल स्प्रे… वैक्सीन की नहीं पड़ेगी जरुरत

grand
पूरे विश्व में कोहराम मचा रहे कोरोना वायरस से निपटने के लिए वैक्सीन का ट्रायल जल्द शुरू होगा। इसके साथ ही एक बड़ी और अच्छी खबर यह सामने आ रही है कि भारत में नजल वैक्सीन पर काम शुरू हो गया है और जल्द ही यह उपयोग में लाया जा सकेगा। शरीर में इंजेक्शन के माध्यम से देने के बजाय इस नजल वैक्सीन को सीधे नाक के माध्यम से लिया जा सकता है। इससे लोगों को ज्यादा आसानी की उम्मीद है।
भारत बायोटेक के डॉ. कृष्णा इल्ला के मुताबिक, उनकी कंपनी ने वाशिंगटन यूनिवर्सिटी के साथ करार किया है। इस Nasal वैक्सीन में दो की बजाय सिर्फ एक ही डोज देने की जरूरत होगी। रिसर्च में पाया गया है कि ये काफी बेहतरीन ऑप्शन है।

डॉ. चंद्रशेखर के मुताबिक, अगले दो हफ्तों में Nasal Covaxin का ट्रायल शुरू कर दिया जाएगा। इसके लिए हमारे पास जरूरी सबूत हैं कि नाक से दी जाने वाली वैक्सीन इंजेक्शन वाली वैक्सीन से बेहतर है। भारत बायोटेक जल्द ही इस ट्रायल को लेकर DCGI के सामने प्रपोजल रखेगा।

जानकारी के मुताबिक, भुवनेश्वर-पुणे-नागपुर-हैदराबाद में भी इस वैक्सीन का ट्रायल होगा। जहां पर 18 से 65 साल के करीब 40-45 वॉलेंटियर्स का चयन किया जाएगा। गौरतलब है कि भारत बायोटेक अभी भी दो इंट्रा-नेसल वैक्सीन पर काम कर रहा है। दोनों ही वैक्सीन अमेरिका की हैं।

NASAL वैक्सीन ऐसे करता है काम
आपको बता दें कि अभी तक जो भी वैक्सीन बाजार में आई हैं, उसमें व्यक्ति के हाथ पर ही टीका लगाया जाता है। लेकिन Nasal वैक्सीन को नाक के जरिए ही दिया जाएगा। चूंकि नाक से ही सबसे अधिक वायरस फैलने का खतरा रहता है, ऐसे में इस वैक्सीन के कारगर होने की अधिक संभावना है।

वाशिंगटन स्कूल ऑफ मेडिसन की रिसर्च के मुताबिक, अगर नाक के द्वारा वैक्सीन दी जाती है तो शरीर में इम्युन रिस्पॉन्स काफी बेहतर तरीके से तैयार होता है। ये नाक में किसी तरह के इंफेक्शन को आने से रोकता है, ताकि आगे शरीर में ना फैल पाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here