बाप रे ! 2 फार्मों में बर्ड फ्लू का कहर, मारी जाएंगी 1.66 लाख मुर्गियां

हरियाणा। पंचकूला जिले के दो पोल्ट्री फार्मों में बर्ड फ्लू (एवियन इन्फ्लुएंजा ए-5ए-8) की पुष्टि हो गई है। ऐसे में उनके एक किलोमीटर के दायरे को संक्रमित जोन और इसके बाद 10 किलोमीटर के दायरे के क्षेत्र को सर्विलांस जोन घोषित किया गया है। एक किलोमीटर के दायरे में पांच पॉल्ट्री फॉर्मों की एक लाख 66 हजार 128 मुर्गियों को मारकर दबाया जाएगा।

इसके लिए विभाग ने 59 टीमों का गठन किया है। पोल्ट्री फार्म के मालिकों को मुर्गियों को मारे जाने पर क्षतिपूर्ति के लिए प्रति मुर्गी 90 रुपए का मुआवजा दिया जाएगा। इन क्षेत्रों की मुर्गियों व अंडों के साथ दाने की बाहर सप्लाई पर भी रोक लगा दी है। यह जानकारी पशुपालन विभाग के मंत्री जेपी दलाल ने दी।

उन्होंने बताया कि मुर्गियों के मरने की सूचना मिलने के बाद सरकार ने पूरी जांच कराई है। विभाग द्वारा जांच करने पर पाया गया कि पिछले एक माह में इन पोल्ट्री फार्मों में करीब 4 लाख मुर्गियां मरी हैं। पहले जालंधर में एक लैब में सैंपल भेजे गए परंतु वहां से रिपोर्ट न मिलने के कारण बाद में सैंपल भोपाल की लैब में जांच के लिए भेजे गए। रिपोर्ट में दो पोल्ट्री फार्मों के पक्षियों में एवियन इन्फ्लुएंजा मिलने की पुष्टि हुई है। उन्होंने बताया कि हालांकि बर्ड-फ्लू की यह स्ट्रेन ज्यादा घातक नहीं है, फिर भी पंचकूला के प्रभावित पोल्ट्री फार्मों के लिए अधिसूचना जारी कर दी गई है।

खेड़ी के सिद्घार्थ व गनौली के नेचर पोल्ट्री फार्म में मिला इन्फ्लुएंजा, मुर्गी-अंडा सप्लाई पर रोक, चेक पोस्ट बनाई

मंत्री दलाल ने बताया कि एवियन इन्फ्लुएंजा की पुष्टि पंचकूला जिले के गांव खेड़ी स्थित सिद्घार्थ पोल्ट्री फार्म और गांव गनौली स्थित नेचर पोल्ट्री फाॅर्म, डंडलावर में हुई है। इसलिए इनके एक किलोमीटर तक के क्षेत्र को संक्रमित जोन और एक से 10 किलोमीटर के क्षेत्र को सर्विलांस जोन घोषित किया है। इस क्षेत्र से मुर्गियां, अंडे आदि दूसरे क्षेत्र में भेजने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। चेक-पोस्ट लगा दी गई हैं। शुक्रवार को मंत्री ने माना करीब कि एक माह से मुर्गियां मर रही हैं।

पोल्ट्री फाॅर्मों पर नजर, कर्मियों की जांच होगी

दलाल ने कहा कि उक्त पोल्ट्री-फाॅर्मों में कार्य करने वाले कर्मचारियों व मालिकों के स्वास्थ्य की भी जांच कराई जाएगी। जींद, सफीदों आदि क्षेत्रों, जहां पर पोल्ट्री फाॅर्म ज्यादा हैं वहां पर भी विभाग द्वारा नजर रखी जा रही है।

जींद के कलोदा में 10 कौवों की मौत, गांवों में किया सर्वे

जींद | कलोदा गांव में 10 कौवों की मौत के बाद पशुपालन विभाग अलर्ट हो गया है। शुक्रवार को उचाना राजकीय पशु अस्पताल के डॉ. राजबीर सिंह कलोदा गांव पहुंचे, जहां गुुरुवार को 10 कौवों के शव मिले थे। आसपास के गांवों में भी सर्वे किया। बर्ड फ्लू को देखते हुए रैपिड रिस्पाॅस टीमें बनाई गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here