एनटीपीसी लारा संयंत्र से प्रभावित गांवों के विकास के लिये किये जा रहे हर संभव प्रयास-कलेक्टर सिंह।

कलेक्टर ने ली एनटीपीसी प्रबंधन व प्रभावित ग्रामों के जनप्रतिनिधियों की बैठक।

रायगढ़। कैलाश आचार्य:- कलेक्टर भीम सिंह की अध्यक्षता में एनटीपीसी लारा प्रबंधन व विस्थापित गांवों के जनप्रतिनिधियों व ग्रामीणों की महत्वपूर्ण बैठक कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित हुई। जिसमें विधायक रायगढ़ श्री प्रकाश नायक भी शामिल हुये। इस बैठक में केसापाली, रेंगालपाली, लारा, देवलसुर्रा, लोहाखान सहित अन्य प्रभावित ग्रामों के लोग शामिल हुये। कलेक्टर श्री सिंह द्वारा ग्रामीणों की मांग पर बिन्दुवार चर्चा कर उसका समाधान निकाला गया।
ग्रामीणों की सीएसआर के तहत उनके गांवों में शिक्षा, स्वास्थ्य व सुपोषण की दिशा पर काम किये जाने की मांग रखी गई। कलेक्टर ने बताया कि इस दिशा में व्यापक स्तर पर कार्य किये जा रहे है। प्रभावित गांवों में विशेष रूप से स्मार्ट क्लास, स्कूलों में फर्नीचर, आदर्श आंगनबाड़ी भवन, धान खरीदी केन्द्र बनाने उसमें टीवी व आरओ की सुविधा देने जैसे कार्य किये जा रहे है। 2.5 करोड़ की लागत से पुसौर में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र तैयार हो रहा है। सड़कों के निर्माण कार्य भी इसमें शामिल किये गये है। उन्होंने सरपंचों से उनके क्षेत्र में सड़क सुधार के साथ अन्य कार्यों की प्राथमिकता के आधार पर सूची तैयार कर जमा करने के निर्देश दिये।
ग्रामीणों ने प्लांट से जुड़े नान स्पेशलाईज्ड श्रेणी के सिविल व मेंटनेंस कार्य स्थानीय प्रभावितों को देने की मांग की। कलेक्टर ने एनटीपीसी प्रबंधन को कहा कि इसके लिये एक संयुक्त समिति गठित की जायेगी जो कार्यों को आंकलन करेगी। जिसके आधार पर स्थानीय पीएपी वेंडरी को रोटेशन में यह कार्य दिये जायेंगे। जिससे सभी को रोजगार मिलता रहे। उन्होंने एनटीपीसी प्रबंधन को साफ तौर पर कहा कि जो कार्य स्थानीय व्यक्तियों द्वारा किये जा सकते है, वे इन ग्रामवासियों को ही मिले। कलेक्टर ने ग्रामीणों की सुविधा के लिये निस्तार हेतु भूमि का सीमांकन फरवरी तक पूरा करने के निर्देश दिये। बैठक में ग्रामवासियों ने कुछ लोगों को मुआवजा नहीं मिलने की बात रखी। कलेक्टर ने एसडीएम रायगढ़ को निर्देशित किया कि गैर विवादित मुआवजा प्रकरणों में भुगतान तत्काल करवाये तथा शेष लंबित प्रकरणों में आवश्यक कार्यवाही करते हुये मुआवजा वितरण सुनिश्चित करें।
कलेक्टर ने प्रभावित क्षेत्रों में संयंत्र के भारी वाहनों के आवाजाही से जिन सड़कों की स्थिति जर्जर हो चुकी है उसे तत्काल सुधारने तथा आवश्यकतानुसार चौड़ीकरण के निर्देश एनटीपीसी प्रबंधन को दिये। ग्रामीणों ने बताया कि प्रभावित ग्रामों में पेयजल हेतु टंकी का निर्माण व कनेक्शन हेतु पाईप की फिटिंग कर ली गई है किन्तु पेयजल की आपूर्ति अभी तक शुरू नहीं हुई है। इस पर कलेक्टर ने अगले 15 दिनों में पानी की आपूर्ति प्रारंभ करने के निर्देश दिये।
इस अवसर पर त्रिवेणी बहुउद्देशीय सहकारी समिति जो एनटीपीसी प्रबंधन अंतर्गत उद्यानिकी का कार्य कर रही है उन्होंने अपनी समिति में नये सदस्यों को शामिल करने की अनुमति देने का आग्रह किया। जिससे समिति सदस्य वहां कार्य जारी रख सके। कलेक्टर ने तत्काल उप पंजीयक सहकारिता को बुलाकर मामले का निराकरण करने के निर्देश दिये। बैठक के दौरान प्रभावितों को पीएपी (परियोजना प्रभावित व्यक्ति का) कार्ड का भी वितरण किया गया। कलेक्टर ने एनटीपीसी प्रबंधन को दो माह के अंदर सभी प्रभावितों को यह कार्ड वितरित करने के निर्देश दिये।
इस अवसर पर एसडीएम रायगढ़ युगल किशोर उर्वशा, तहसीलदार, नायब तहसीलदार पुसौर आयुष तिवारी, सीईओ जनपद नितेश उपाध्याय भी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here