बंगाल में दो तृणमूल विधायकों सहित 65 नेताओं ने थामा भाजपा का दामन

कोलकाता। West Bengal: केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने रविवार को बंगाल में हावड़ा के डोमूरजला मैदान में भाजपा के योगदान मेला व जनसभा को संबोधित किया। इस मौके पर हाल में तृणमूल छोड़ने वाले पूर्व मंत्री व कद्दावर नेता राजीव बनर्जी की अगुवाई में दो तृणमूल विधायकों सहित विभिन्न दलों के 65 से ज्यादा नेताओं ने औपचारिक रूप से भाजपा का दामन थामा। अमित शाह ने इस दौरान भाजपा में शामिल होने वाले सभी नेताओं का वर्चुअल स्वागत किया। बंगाल के दो दिवसीय दौरे पर शुक्रवार देर रात शाह ही आने वाले थे, लेकिन उनका दौरा अचानक स्थगित हो गया और उनकी जगह स्मृति ईरानी आईं। इससे पहले राजीब बनर्जी की अगुवाई में छह तृणमूल नेताओं ने एक दिन पहले ही दिल्ली जाकर शाह से मुलाकात की थी और अनौपचारिक रूप से भाजपा में शामिल हो गए थे।

ममता पर बरसीं स्‍मृति ईरानी, कहा- दीदी को ‘जय श्रीराम’ से बैर, यहां स्‍थापित होगा रामराज

हावड़ा में जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री स्मृति ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि दीदी को ‘जय श्रीराम’ से बैर है। उन्होंने कहा कि आपने राम को त्याग दिया है, लेकिन इस बार बंगाल में रामराज स्थापित होकर रहेगा। दीदी की टीएमसी जाने वाली है और भाजपा आने वाली है। स्मृति ने तृणमूल को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जो दल अपने निजी राजनीतिक स्वार्थ को लेकर केंद्र सरकार से बैर रखता है, जो अपनों को अपनों से लड़वाने की कोशिश करता है, जो जय श्रीराम के नारे को भी अपमानित करता है, उस दल में कोई भी राष्ट्रभक्त नहीं रुक सकता है।इस दौरान उन्होंने बांग्ला में अपना भाषण देकर सबको चौंका दिया। स्‍मृति ने आगे कहा, ‘पहली बार किसी मुख्यमंत्री ने कट मनी स्वीकार किया। तृणमूल सरकार चावल व दाल चोर है। तिरपाल चोर है। दीदी ने कोरोना महामारी में भी महापाप किया है।’ भाजपा की इस जनसभा में भारी भीड़ उमड़ी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here