अमित शुक्ला की टीम, तीन दिनों से, ग्रामीण वेशभूषा में डाल रखी थी जंगल मे डेरा,और मिली बड़ी कामयाबी।

255 लीटर महुआ शराब जप्त,मौके पर दो आरोपी गिरफ्तार, तीन आरोपियों पर नामजद एफआईआर किया गया दर्ज।

रायगढ़। कैलाश आचार्य– पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह के दिशा निर्देशन पर आज पुलिस चौकी जूटमिल क्षेत्र अंतर्गत जूटमिल पुलिस द्वारा महुआ शराब के विरुद्ध बड़ी कार्यवाही किया गया है। जूटमिल चौकी प्रभारी निरीक्षक अमित शुक्ला के नेतृत्व में जूटमिल स्टाफ द्वारा नेतनागर जंगल अंदर केलो नदी के किनारे महुआ शराब बनाए जाने की सूचना पर घेराबंदी कर रेड कार्यवाही किया गया है। गौरतलब है कि जूटमिल पुलिस द्वारा इसके पूर्व भी नेतनागर के जंगलों में अवैध रूप से महुआ शराब बनाने की सूचना पर कार्यवाही की गई है। गत दिनों टी.आई.जूटमिल नेतनागर जंगल अंदर महुआ शराब बनाने की सूचना मिली थी, जिस पर पिछले तीन दिनों से लगातार आरक्षक सादी वर्दी में नेतनागर जंगल जाते किंतु शराब बनाने के अवैध भट्टी तक नहीं पहुंच पा रहे थे, सुबह लोगों की आवाजाही पर पुलिस कार्यवाही की जानकारी होने की अंदेशा को देखते हुए लौट आते। टी.आई. जूटमिल द्वारा एसपी संतोष सिंह को जानकारी देने पर आज भोर में कार्यवाही के निर्देश एसपी से प्राप्त हुये जिस पर टी.आई. अमित शुक्ला द्वारा स्टाफ की टीम तैयार कर अपने चौकी के आरक्षकों को ग्रामीण वेशभूषा लूंगी, बनियान में जंगल अंदर भेजें जहां से पांइट देने निर्देशित किये। सुबह करीब 4:00 बजे से जूटमिल स्टाफ जंगल में अवैध महुआ शराब की भट्टी पर पहुंच कर आरोपियों के घेराबंदी का पॉइंट देने पर एकाएक रेड कार्यवाही किये गया। मौके पर मिले दो आरोपी 1-कृष्णा निषाद पिता कुश राम निषाद 45 वर्ष 2-भुजबल बसोड़ पिता घटिया बसोड़ उम्र 48 वर्ष दोनों निवासी नेतनागर जूटमिल को घेराबंदी कर पकड़ा गया। आरोपियों ने पूछताछ में 3- दीपे (सरदार) उम्र 25 वर्ष निवासी नेतनागर के लिये शराब बनाना बताये। मौके पर भारी मात्रा में प्लास्टिक की जरकिन में तैयार किया हुआ महुआ शराब कुल 255 लीटर, कीमती ₹51,000 एवं दो नग बड़ा एवं दो नग छोटा एल्युमीनियम का बर्तन (डेचकी) को जप्त कर चौकी लाया गया तथा अवैध भट्ठी पर मिले सड़ा हुआ महुआ (पास) एवं बर्तन में चढ़े महुआ पास को नष्ट किया गया है। तीनों आरोपियों के विरुद्ध धारा 34(2),59(क) आबकारी एक्ट की कार्यवाही कर गिरफ्तार दो आरोपियों को रिमांड पर भेजा गया है। टी.आई. अमित शुक्ला के नेतृत्व में उपरोक्त कार्यवाही में प्रधान आरक्षक विजय गोपाल, मोहम्मद दिलदार कुरैशी, शंभू पाण्डेय, आरक्षक बनारसी सिदार, सत्या यादव,ओशनिक विश्वाल, प्रताप बेहरा, कीर्तन यादव, श्याम लाल सिदार, प्रकाश गिरी की अहम भूमिका रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here