किसके सह पर चल रहा अवैध कबाड का कारोबार, जनचौपाल मे पुलिस अधीक्षक से शिकायत के बाद भी लालकबाड पर कार्यवाही नही।

रायगढ़। कैलाश आचार्य:- एक तरफ जिले की संवेदनशील पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने जिले में लोहा कबाड चोरों पर लगाम लगाने के ताबड़तोड़ कार्यवाही की जा रही है। पुलिस अधीक्षक के दिशानिर्देश में पूरे जिले में कार्यवाही होने से लोहा कबाड चोरों व अपराधियों में भय का माहौल बना गया है। जिले के कप्तान संतोष कुमार सिंह के कुशल नेतृत्व की वजह से जिले को अलग पहचान मिल रही है ।

वही एक ओर घरघोड़ा जैसे एक छोटे से क्षेत्र में कबाड़ी के कारोबारी ने आतंक इस तरह से फैला रखा है । लोग उसके खिलाफ थाने में भी जाने की हिम्मत नही जुटा पा रहे है। यह कबाड के रूप में प्रतिदिन सैकड़ों इम्पोर्टेड बंगाली फेरीवालों नव युवकों के माध्यम से क्षेत्र से लाखो का लोहे की चोरी करवाकर नजदीक के उद्योग पूंजीपथरा में खपा रहे है । कबाड के नाम पर चोरी के सामानों से प्रतिदिन लाखो की अवैध कमाई कर रहा है । कबाड के नाम पर ब्यापार की शुरुआत की ओर आज कबड़िये ने नगर शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में अपना एजेंट बनाकर रेल्वे कार्य व टॉवर व बनाये जा रहे शासकीय व निजी भवनों से सरिया जैसे लोहे की चोरी कराई जा रही है साथ ही क्षेत्र में स्थानीय लोगो के बीच अपनी नाम के दहशत फैला कर अवैध काम को बेखौफ अंजाम दे रहा है । घरघोड़ा नगर में रह रहे दीगर प्रदेश से आये फेरीवालों नशेड़ियों के साथ मिलकर मोहल्ले में आतंक फैलाकर दहशत का माहौल बना दिया है ।

आज के नव युवकों को कुछ पैसे का प्रलोभन देकर नशे के लिए के लिए उकसाने के साथ उन्हें नशे का आदि बना दिया जा रहा है इन युवाओं को रेल्वे , टॉवर , घरों मे लोहा चोरी का काम में लगाया जा रहा है । नशे के आदि बनते इन युवाओं द्वारा चोरी की वारदात को बेखौफ अंजाम दे रहे है नशे में चोरी के काम मे शामिल होने के कारण युवा पीढ़ी का भविष्य अंधकारमय हो रहा है ।

क्षेत्र के कबाड़ी प्रतिदिन लाखो का लोहा की चोरीे कराके घरघोड़ा क्षेत्र में अपना आधिपत्य जमा लिया। इस छोटे से कबाड़ी के नाम पर लोहा चोरी कराने वाले इस कबाड़ी पर किस बड़े शख्सियत का वरद हस्त प्राप्त है सोचनीय विषय बन गया है जिसके कारण स्थानीय पुलिस लोहा चोर के साथ उसके नुमाइंदे फेरीवालों पर हाँथ डालने से हिचकी रही है ।

बड़ी आशा उम्मीद के साथ नगर के साथ ग्रामीण क्षेत्रों से आये लोगो ने जनचौपाल में हिम्मत जुटाकर संवेदनशील पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह से इस लालकबाड के खिलाफ शिकायत की थी । उसके बाद भी स्थानीय पुलिस कबाड़ी पर आज तक कोई कार्यवाही नही करने से स्थानीय पुलिस के द्वारा कबाड़ी को खुली छूट देने चौक चौराहे में पुलिस के कार्यवाही नही करने का खुले रूप से मख़ौल उड़ाना नगर में जन में चर्चा का विषय बना हुआ ।

अब क्षेत्रीय व स्थानीय लोग सिर्फ जिले के पुलिस कप्तान संतोष कुमार सिंह पर नजरें लगाए ताक रहे है कि कब इस लालकबाड के आतंक से मुक्ति दिलाते है। कब तक गरीब वर्ग तबका जो अपने ख़ूनपसिने की गाढ़ी कमाई से अपना आशियाना बनाने का सपना अधूरा रहेगा। बताना चाहते है इस लालकबड़िये द्वारा शासन की महत्वकांक्षी योजना प्रधानमंत्री आवास योजना को भी पलीता लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ा जा रहा है । देखना होगा कि इस लालकबड़िये पर पुलिस की गाज कब तक गिरती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here