रायल्टी चोर रेत माफियाओं की वजह से फिर हुयी मौत

बिलासपुर :- शनिवार की सुबह एक ही परिवार के दो बच्चे रेत माफियाओं के भेंट चढ़ गये | रेत से भरे ट्रेक्टर की चपेट में आने से एक मासूम की मौत हो गयी है जबकी दूसरा गंभीर रूप से घायल है । घटना बिलासपुर जिले के कोनी थाना क्षेत्र के अशोकनगर की है । बच्चे स्कूल से मोटर सायकल से अपने घर नगोई जा रहे थे।  हादसे में दोनों बच्चे तेज रफ़्तार से भाग रहे ट्रैक्टर की चपेट में आ गए । हादसे में मरने वाले बच्चे का नाम प्रांजल मिश्रा है। जबकि गंभीर रूप से घायल भाई का नाम प्रखर मिश्रा है। 

                  एक बार फिर से रायल्टी चोर रेत माफियाओं ने खूनी खेल खेला है। कुछ रुपयों के फायदे के लिए रायल्टी न चुकाना पड़े करके चोरी का रेत उत्खनन कर तेज रफ्तार से भाग रहे ट्रैक्टर की चपेट में आने से स्कूल से घर जा रहे प्रांजल मिश्रा और प्रखर मिश्रा को ट्रैक्टर ने चपेट में लिया है। घटना कोनी थाना क्षेत्र का है। दोनों भाई आधारशिला स्कूल विद्या मंदिर से छुट्टी के बाद अपने घर मोटरसायकल से नगोई जा रहे थे। दिल दहला देने वाला हादसा अशोकनगर के पास हुआ। एक बार फिर खूनी हादसे ने तंत्र का पोल खोल दिया है। पूर्व में 1 महीने पहले ही लोफंदी में 22 साल का एक युवक रेत रफ्तार से भाग रहे रेत भरे हाइवा की चपेट में आ गया था और उसकी भी घटना स्थल पर ही मौोत हो गयी थी । मामला लगातार सुर्खियों में रहा । सिर्फ आश्वासन मिलने की वजह रेत माफियों को दुबारा खूनी खेल खेलने का मौका मिल गया। लेकिन पीसीसी उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने ऐलान किया है कि अब बहुत हुआ रेत चोरों के खिलाफ आसपास के लोगों और जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक के बाद उग्र आंदोलन किया जाएगा । 

माइनिंग विभाग की लापरवाही या पैसे लेकर सेटिंग  होना  

             बहरहाल  हादसे से एक बार फिर जाहिर हो गया है कि माइनिंग विभाग रेतमाफियों के सामने नतमस्तक है। एक महीने पहले भी रेत चोरों ने घुटकू  एक युवक को मौत के घाट उतारा था। विऱोध के बाद मामला किसी तरह शांत हुआ था की अब फिर दो सगे भाइयों को अपने चपेट में ले लिया है। इससे जाहिर होता है कि रेतचोरों के सामने माइनिंग अधिकारी कितने बेबस है। क्योंकि ज्यादातर रेत चोर सत्ताधारी पार्टी के रसूखदार नेता है । 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here