पोर्न साइट पर भाभी ने डाले ननद के फोटो और मोबाइल नंबर… अनजान युवकों के आने लगे फोन… बोले- कहां मिलोगी… फिर जो हुआ…

युवक तो युवतियों को परेशान करने के लिए कुछ भी कर गुजरते हैं। यहां मामला कुछ दूसरा है। भाभी ने ननद को बदनाम कर दिया। अश्लील वेबसाइट पर उसके फोटो अपलोड कर दिए। आरोप है कि उसे एस्कार्ट बता दिया। वक्त बेवक्त युवकों के फोन आने लगे। लड़के वीडियो कॉल करके अश्लील फरमाइश करने लगे। कीमत पूछने लगे। ननद की तहरीर पर सदर थाने में भाभी और एक युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस साइबर सेल की मदद से जांच कर रही है।

मामला आगरा जिले के सदर थाना क्षेत्र से संबंधित है। युवती ने पुलिस को बताया कि भाई की कुछ समय पहले मौत हो गई थी। भाई की मौत के बाद भाभी का व्यवहार बदल गया। मामूली बात पर उनसे उलझने लगीं। उनसे उल्टा सीधा बोलने लगीं। ज्यादातर समय घर से बाहर रहने लगीं। कहां गई थीं यह पूछने पर विवाद करने लगीं। कुछ दिन पहले अचानक उसके मोबाइल पर अनजान युवकों के फोन आने लगे। कोई देर रात वीडियो कॉल करता तो कोई दोपहर में फोन करके यह पूछता कि शाम को कहां मिलोगी। यह सुनकर उसके होश उड़ गए। समझ नहीं आ रहा था कि ये हो क्या रहा है। एक दिन में बीस-बीस फोन आने लगे। जो भी फोन करता ऐसे बात करता जैसे वह देह व्यापार में लिप्त है। उन्होंने एक युवक से पूछा कि नंबर कहां से मिला। उसे बताया कि नंबर तो वेबसाइट पर है। उनका फोटो भी है। इस जानकारी ने होश उड़ा दिए। ननद का आरोप है कि भाभी ने उसे बदनाम करने के लिए ऐसा किया है। अजय नाम का एक युवक भाभी के संपर्क में है। दोनों मिले हुए हैं।

युवक और भाभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया
पीड़िता ने बताया कि छह मार्च से वह परेशान है। रात को नींद नहीं आती है। पता नहीं किस-किसने फोटो देखे होंगे। दहशत में उन्होंने अपना मोबाइल नंबर ही बंद कर दिया है। कोई काम होता है तो मोबाइल ऑन करती हैं। पीड़ित ननद ने सदर थाने में अजय नाम युवक और भाभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। इंस्पेक्टर सदर जितेंद्र सिंह ने बताया कि तहरीर मिली थी। आईपीसी की धारा 354 सी और 67 आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

विवाद के पीछे कई कारण
इंस्पेक्टर सदर जितेंद्र सिंह ने बताया कि मुकदमा लिखा जाना जरूरी था। तहरीर मिली थी। पुलिस इस मामले की गहराई से जांच करेगी। विवाद के पीछे कई कारण हैं। आरोपित भाभी के पति का देहांत हो चुका है। ससुर भी नहीं हैं। ससुर की पेंशन सास को मिलती है। ननद भी विवाहित है। उसका पति विकलांग है। मकान के बंटवारे से लेकर पेंशन में हिस्सेदारी का भी विवाद है। भाभी ने ननद को बदनाम करने के लिए साइबर क्राइम किया होगा तो गिरफ्तारी होगी मगर इससे पहले पुलिस साक्ष्य संकलित करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here