महिलाओं को प्रेमजाल में फंसाकर हत्या करने वाले 2 सिरियल किलर गिरफ्तार…. अकेली रह रही तलाकशुदा और विधवा महिलाओं को बनाते थे शिकार… ऐसे देते थे घटना को अंजाम

मुंगेली। जिले के फास्टरपुर थाना क्षेत्र के ग्राम सिंघनपुर में दिनांक 03.11.2020 को अज्ञात महिला का क्षत विक्षत शव मिला था। मौके पर पहुंची पुलिस ने धारा 302, 201 भादवि कायम कर प्रकरण के अज्ञात मृतका व हत्यारों की तलाश शुरू की, तो चौकाने वाला खुलासा हुआ, पुलिस ने महिलाओं को प्रेमजाल में फंसाकर हत्या करने वाले 2 सिरियल किलर को गिरफ्तार किया, जो तलाकशुदा, विधवा और अकेली रह रही महिलाओं को शिकार बनाते थे।

फोटो से मिला क्लू, फिर ऐसे पकड़े गए आरोपी

घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण करने पर पुलिस को वहां एक महिला का फोटो मिला। पुलिस को जांच के दौरान फोटो से मिलती जुलती महिला सरकण्डा थाना क्षेत्र के चिंगराजपारा में होना पता चला। पुलिस की टीम वहाँ पहुंची, तो महिला द्वारा उक्त फोटो को संतु साहू द्वारा खींचना बताया गया।

पुलिस ने संतु साहू को हिरासत में लिया, कड़ाई से पूछताछ करने पर संदेही संतु साहू द्वारा मृतका का नाम शिवकुमारी साहू बताया गया, साथ ही उसने यह चौकाने वाला खुलासा किया। आरोपी ने बताया, कि उसका उक्त महिला से प्रेम संबंध था। प्रेम जाल में फंसाकर उससे अवैध संबंध स्थापित किया। महिला शादी करने का दबाव बनाने लगी, तो उसे रास्ते से हटाने के लिये संतु साहू ने अपने दोस्त शुभम वैष्णव के साथ मिलकर एक शातिर चाल चली। दोनों ने महिला को घुमाने के बहाने खुड़िया, गौरकापा ले जाने की कही, और अपनी बाइक मे बैठाकर घुमाने ले गये। पूर्व नियोजित स्थान पर आते ही इनके द्वारा महिला को उतारकर प्रार्थी सिंघनपुरी निवासी देवव्रत सिंह के धान के खेत में ले जाकर दोनों आरोपियों द्वारा गमछा से गला घोंटकर हत्या कर लाश खेत में छोड़ फरार हो गये।

इस घटना के तरीका ए वारदात का बारीकी से अध्ययन किया गया एवं थाना फास्टरपुर के अंतर्गत ही पूर्व में उसी स्थान पर दिनांक 22.07.2019 को एक अज्ञात महिला का गला घोंट कर हत्या कर लाश फेंकने की सूचना मिलने पर थाना फास्टरपुर में अपराध क्रमांक 104/19 धारा 302, 201 भादवि कायम कर प्रकरण की विवेचना की जा रही थी। उक्त प्रकरण में अज्ञात महिला की पहचान नही हो पायी थी। चूंकि उक्त प्रकरण के महिला की शिनाख्तगी एवं आरोपी की पतासाजी जा रही थी, पूर्व में हुई घटना के संबंध में साइबर सेल की मदद से तकनीकी साक्ष्य एकत्रित किया गया। आरोपियों से कड़ाई से पूछातछ करने पर उनके द्वारा अज्ञात मृतका रूखमणी राजपूत निवासी जोरापारा बिलासपुर की गला घोटकर हत्या करना, और लाश को सिंघनपुरी स्थित देवव्रत सिंह के खेत में फेंक कर फरार होना बताया गया।

आरोपियों के बताये पते पर टीम द्वारा उक्त महिला के संबंध में तस्दीक पर पुलिस को पता चला, कि दिनांक 21.07.2019 से रूखमणी राजपूत घर से गायब है परिजनों द्वारा उसकी खोजबीन अपने रिश्तेदारों एवं परिचितों में की गई, पर वो नही मिली। लाश की फोटो एवं पहने हुये कपड़े को देख कर मृतका के भाई मोहन राजपूत द्वारा उसकी बहन रूखमणी राजपूत के रूप में पहचान किया गया।

आरोपियों ने घटना के संबंध में बताया, कि रूखमणी राजपूत से प्रेम संबंध था। उस दौरान मृतका द्वारा आरोपी से 15 हजार रूपये बीसी के लिये मांगा गया था। आरोपी द्वारा महिला से पैसे वापस मांगने पर महिला पैसा देने से इंकार करती रही इस बात से गुस्सा होकर आरोपी संतु साहू द्वारा अपने साथी शुभम वैष्णव के साथ महिला को बहला फुसला कर पूर्व नियोजित योजनानुसार कोटा, लोरमी, खाम्ही क्षेत्र में दिन भर घुमाता रहा। रात होने पर सिंघनपुरी बघमार रोड में देवव्रत सिंह के खेत के पास गाड़ी से महिला को उतार कर पत्थर से सिर पर वार कर घायल कर दिया। घायल महिला के गले में गमछा कस कर उसकी हत्या कर लाश को घसीटते हुये एक खेत के बाद मेड़ के नीचे फेंक कर फरार हो गये थे। आरोपियों द्वारा दोनों प्रकरण में संलिप्त होना स्वीकार किया।

तीसरे शिकार की फिराक में थे आरोपी

आरोपियों द्वारा योजनाबद्ध तरीके से अपनी वर्तमान प्रेमिका की फोटो घटनास्थल पर ही छोड़ दी गयी थी ताकि लोगों को लगे कि खेत में पड़़ी हुई लाश फोटो वाली महिला की है, जिससे इनके द्वारा यदि भविष्य में उक्त महिला की हत्या कर दी जाये तो भी उसकी पहचान न हो सके। उक्त फोटो ही पुलिस के आरोपियों तक पहुंचने का माध्यम बनी।