सरगुजा संभाग

सरपंच ने थानेदार पर लगाया पशु तस्करी कराने का आरोप

Listen to this article

भारत सम्मान/बलरामपुर – जिले के वाड्रफनगर विकासखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत गोबरा का सरपंच लालबहादुर सिंह के द्वारा पुलिस अधीक्षक डॉक्टर लाल उमेद सिंह से लिखित शिकायत देकर थानेदार बसंतपुर कुमार चंदन सिंह के विरुध गंभीर आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की है दरअसल ग्राम पंचायत गोबरा का क्षेत्र उत्तर प्रदेश सीमा एवं झारखंड सीमा के नजदीक है जिसका लाभ उठाकर पशु तस्कर हमेशा इसी रास्ते से पशुओं की तस्करी करते हैं जिसको लेकर ग्रामीणों के द्वारा पशु तस्करी को रोकने के लिए योजना बनाई गई इसी योजना के तहत ग्रामीण के द्वारा पशु तस्करों से 10 नग मवेशी पकड़ा गया, ग्रामीणों को अपनी ओर आते देख पशु तस्कर मौके से फरार हो गए।

ग्रामीणों के द्वारा पकड़े गए सभी 10 मवेशियों की सूचना तत्काल थाना प्रभारी बसंतपुर कुमार चंदन सिंह को सरपंच लालबहादुर सिंह ग्राम पंचायत गोबरा के द्वारा दी गई, जिस पर थाना प्रभारी के द्वारा मौके पर पहुंचकर  सभी पकड़े गए पशुओं को वापस पुलिस थाने बुलवाकर रखा गया एवं इन सभी पशुओं को गौशाला आरागाही में भिजवाने की बात कही गई, परंतु पशु तस्करों से साठ-गांठ कर थाना प्रभारी के द्वारा सभी पशुओं को वापस पशु तस्करों को सौंप दिया गया जिसको लेकर सरपंच के द्वारा उपरोक्त पशुओं के संबंध में थाना प्रभारी से जानकारी चाहिए गई तो उनके द्वारा सरपंच व ग्रामीणों को बताया गया कि कुछ पशुओं को सनावल क्षेत्र के किसानों को रसीद के आधार पर छोड़ दिया गया है और बाकी पशु को आरागाही गौशाला भिजवाया गया है जब सरपंच के द्वारा उपरोक्त पशुओं के संदर्भ में पताशाजी की गई तो पता चला कि सभी पशुवो को पशु तस्करों को ही वापस दे दिया गया है जैसे ही यह खबर ग्रामीण तक पहुंची की सभी मवेशियों को गो तस्करों को ही वापस दे दिया गया है ग्रामीण सरपंच के पास पहुंचकर थानेदार कुमार चंदन सिंह के विरुद्ध पुलिस अधीक्षक एवं गृह मंत्री व पुलिस महानिरीक्षक तक शिकायत आवेदन देकर कार्यवाही करने की मांग करने लगे जिसको लेकर सरपंच लालबहादुर सिंह के द्वारा ग्रामीणों में थानेदार के रोष को लेकर एवम् पुलिस प्रशासन के प्रति नकारात्मक भाव उत्पन्न हुआ एवं पुलिस प्रशासन के ऊपर जहां रक्षा की उम्मीद होती है वही विश्वास घात किया जाना पुलिस व जनता के संबंध में के लिए बेहद चुनौती पूर्ण स्थिति निर्मित हो रहा है जिससे जनता का विश्वास पुलिस पर से हट जाएगा।

कोई ग्रामीण शिकायत करने नहीं जाएगा जिससे अपराध की संख्या बढ़ेगी को लेकर एवं एवं इस घटना क्रम से छुबध होकर ग्रामीणों के कहने पर सरपंच के द्वारा बलरामपुर पुलिस अधीक्षक को लिखित शिकायत देते हुए प्रदेश के गृह मंत्री एवं पुलिस महानिरीक्षक सरगुजा रेंज को आवेदन प्रेषित कर कार्यवाही की मांग की है। वही इस संबंध में थाना प्रभारी कुमार चंदन सिंह से उनका पक्ष जानने के लिए मोबाइल नंबर पर संपर्क किया गया तो उन्होंने फोन रिसीव नहीं कर पाए यही कारण एक उनका पक्ष नहीं लिया जा सका जबकि इस मामले मे वाड्रफनगर पुलिस अनुविभागीय अधिकारी ने रामावतार ध्रुव ने बताया कि उपरोक्त शिकायत पुलिस अधीक्षक कार्यालय में दी गई है उपरोक्त शिकायत के संदर्भ में तथ्यों की जांच होगी जांच उपरांत वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

Bharat Samman

Related Articles

Back to top button